हिसार। हांसी में फर्जी फर्म दिखाकर खाली पड़ी जमीन पर बाग लगाने के नाम पर ढाणी कुतुबपुर में स्थित डेरे के एक महंत से 2 लाख 90 हजार रुपये ऐंठ लिए गए। हांसी सदर पुलिस ने चार आरोपियो के खिलाफ धोखाधड़ी व अन्य धाराओं के तहत मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। एक साल पहले थाने में शिकायत देने के बावजूद कार्यवाही न होने पर पीड़ित महंत ने अक्टूबर 2020 में तत्कालीन एसपी को शिकायत दी थी। हाल ही में नियुक्त हुई नई एसपी नितिका गहलोत के आदेश पर मामला दर्ज किया गया है। पुलिस को दी शिकायत में डेरा सच्चा सौदा धाम शब्दपुर के महंत महाराज सत्यप्रकाश ने बताया कि आरोपी कमल व गोबिंद ने बताया था कि वो ग्लोविन प्राइवेट लिमिटेड कंपनी में काम करते हैं। जो लोगों की जमीन में बाग-बगीचे लगाने के लिए पौधे व ड्रिप आदि का बिजनेस करती है और हम दो साल का एग्रीमेंट करेंगे और इस दौरान पौधों व ड्रिप की जिम्मेवारी कंपनी की होगी। महंत ने बताया कि उनकी बातों में आकर उसने बीकानेर जिले के नूणकरणसर तहसील के गांव अर्जुनसर मिठडिया में स्थित अपनी 25 बीघा जमीन पर बाग लगाने के लिए इन आरोपियो को 2 लाख 90 हजार रुपये दे दिए। दोनों आरोपियों ने दो दिन में ऑनलाइन रसीद देने व बाग का काम शुरू करने के आश्वासन दिया था। दो महीने बीत जाने पर भी न तो काम शुरू हुआ और न ही रसीद दी गई। महंत सत्यप्रकाश ने बताया कि बार-बार फोन करने पर आरोपित अब पैसे वापिस मांगने पर जान से मारने की धमकी देते हैं। महंत ने आरोप लगाया कि एक साल पहले नवंबर 2019 में थाने में शिकायत देने के बावजूद जांच अधिकारी ने आरोपियो के साथ साजबाज होकर कोई कार्यवाही नहीं की जिस पर उन्होंने अक्टूबर 2020 में एसपी को शिकायत दी थी।