सहरसा । सहरसा में शादी के दिन एक युवक दूल्हे के सामने ही उसकी दुल्हन को बाइक पर बैठाकर भगा कर ले गया। वहीं, दूसरी तरफ एक दुल्हन भी अपने दूल्हे के बारात लेकर आने का इंतजार करती रह गई। इस घटना के बाद हडकंप मच गया। दरअसल, सहरसा शहर से सटे एक गांव के लडके की शादी तटबंध पार एक गांव में तय हुई थी। लड़के और बाराती गाड़ी को तटबंध पर छोड़ बाइक और पैदल चचरी पुल पार कर दुल्हन के घर पहुंचे। बारातियों के पहुंचने पर वहां वधु पक्ष के लोगों ने बारातियों का खूब स्वागत सत्कार किया। विधि विधान से लड़के और लड़की की शादी की रस्म निभाई गई। रातभर शादी की रस्मों के साथ शादी सम्पन्न होने के बाद सुबह दुल्हन की विदाई की तैयारी शुरू हुई। इसके बाद परिजनों ने अपनी बेटी को विदा भी कर दिया, बस तटबंध पार कर वर-वधु को निकलना था। इस दौरान एक पड़ोसी लड़के ने तटबंध पर खड़ी गाड़ी पर बैठाने के लिए दुल्हा और दुल्हन को अपनी बाइक पर बैठा लिया। लेकिन, बीच रास्ते में लड़के ने दूल्हे को बाइक से उतारा और दुल्हन की साड़ी में बंधी गांठें खोल दीं। दूल्हा इसके पहले कुछ समझता वह लड़का उसकी दुल्हन को लेकर फरार हो गया। 
युवके का ‎फिल्मी अंदाज देखकर दूल्हा भी हैरान रह गया और थोड़ी ही देर में वहां लौट रहे बाराती भी पहुंच गए। इसके बाद घटना की सूचना दुल्हन के परिवार वालों को दी गई। दूल्हा और बाराती भी वापस वहां पहुंच गए। इस पर आनन-फानन में दुल्हन और लडके की खोज खबर शुरू हुई, लेकिन कोई नहीं मिला। इस पर लड़के वालों के परिजनों ने विरोध करना शुरू कर दिया और पंचायत बैठाई। पंचायत में लड़की पक्ष पर आरोप लगाए गए और फिर दुल्हन के चढ़ावे के जेवर, अन्य सामग्री सहित गाड़ी भाड़ा देकर दूल्हे का गुस्सा शांत किया गया। इस पर दूल्हे को बिना दुल्हन के ही वापस लौटना पड़ा। वहीं, दूसरी तरफ भी एक दुल्हन थी, जो अपने दूल्हे का इंतजार कर रही थी। यह वही दूल्हा था जो दूसरे दूल्हे की दुल्हन को बाइक पर बैठा कर भाग निकला। दोनों की ही शादी एक दिन के अंतराल में थी। स्थानीय ग्रामीणों ने बताया कि दुल्हन को लेकर भागने वाले लडक़े ने उससे से शादी कर ली है। इसको लेकर दूसरा पक्ष भी काफी विरोध कर रहा है।