नई दिल्ली । भारतीय टीम के कप्तान सुनील छेत्री ने देश को साल 2027 एएफसी (एशियाई फुटबॉल परिसंघ) कप की मेजबानी मिलने पर खुशी व्यक्त करते हुए कहा कि यह बहुत बड़ी बात होगी। अखिल भारतीय फुटबॉल महासंघ (एआईएफएफ) ने कहा है कि वह 2027 एएफसी एशियाई कप की मेजबानी का दावा पेश करेगा। वहीं राष्ट्रीय टीम के गोलकीपर सुब्रत पॉल ने कहा कि भारत ऐसे टूर्नामेंटों की मेजबानी और ‘वैश्विक फुटबॉल स्थल’ बनने को तैयार है
दो एशियाई कप 2011 और 2019 में भारतीय टीम के कप्तान रहे छेत्री ने कहा कि मेजबानी मिलना फुटबॉल के प्रशंसको के लिए ‘सर्वश्रेष्ठ उपहार’ के समान है। छेत्री ने कहा, अपने देश के लिए खेलने से बड़ा कुछ भी नहीं है और हमारे देश के लिए एएफसी एशियाई कप 2027 की मेजबानी से बड़ा कोई सम्मान नहीं होगा। मुझे लगता है कि यह देश में प्रशंसकों और सभी के लिए सबसे बेहतर उपहार होगा।
वहीं अंतरराष्ट्रीय फुटबॉल में सक्रिय खिलाड़ियों में सबसे ज्यादा गोल करने के मामले में दूसरे स्थान पर रहे छेत्री ने कहा, हमने भारत में 2017 में फीफा अंडर-17 (पुरुष) विश्व कप की मेजबानी की है। यह काफी बड़ी सफलता थी और आप इस टूर्नामेंट से निकलने वाली प्रतिभाओं को देख सकते हैं। हम 2022 में फीफा अंडर -17 महिला विश्व कप की मेजबानी करेंगे। मैं बेसब्री से उसका इंतजार कर रहा हूं। उन्होंने कहा, ‘‘ एशियाई कप 2027 की मेजबानी हासिल करना और एशिया के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ियों को खेलते हुए देखना बड़ी बात होगी। मैं एआईएफएफ को शुभकामनाएं देता हूं और मुझे आशा है कि हम इसमें सफल रहेंगे।