जूनागढ़ | मेंदरडा कोर्ट ने 12 साल पुराने मारपीट के एक मामले में कांग्रेस विधायक भीखाभाई जोशी को दोषी ठहराते हुए एक साल की सजा सुनाई है| साथ ही पांच हजार रुपए का जुर्माना भी किया है| भीखाभाई जोशी ने कोर्ट के फैसले पर प्रतिक्रिया में कहा कि वह इसके खिलाफ ऊपरी कोर्ट में जाएंगे| कांग्रेस विधायक ने बताया कि यह मामला 2008 का है| उस वक्त ग्राम पंचायत का सरपंच अपने पद को दुरुपयोग कर गांव को लूट रहा था| विरोध करने मेरे राजनीतिक कैरियर को नुकसान पहुंचाया और मेरे खिलाफ केस कर दिया था| भीखाभाई जोशी ने कहा कि मेंदरडा कोर्ट के फैसले को वह ऊपरी अदालत में चुनौती देंगे| बता दें कि विधायकों और सांसदों के खिलाफ विचाराधीन मामलों का जल्द निपटारा करने के आदेश के तहत राजनेताओं के मामलों पर सुनवाई की जा रही है| भीखाभाई जोशी मामले पर इसी अंतर्गत जल्द सुनवाई की गई है|