कोटा. राजस्थान (Rajasthan) के कोटा (Kota) में एक ठेकेदार की हत्या (Murder) कर दी गई है.  पुलिस (Police) का दावा है कि हत्या का आरोपी सेल्स मैनेजर है. मामूली कहासुनी के बाद सेल्स मैनेजर ने टाइल ठेकेदार की हत्या कर दी. कोटा के बोरखेड़ा इलाके की देवाशीष सिटी टाउनशिप में एक युवक की चाकू से गोदकर हत्या करने का सनसनीखेज मामला सामने आया. मृतक मनीष शर्मा टाइल्स ठेकेदार था जो देवाशीष सिटी में काम कर रहा था, वहीं के सेल्स मैनेजर मनीष अग्रवाल ने हत्याकांड को अंजाम दिया है. मृतक ठेकेदार मनीष शर्मा के परिजन ने बताया की बीते रविवार की शाम अचानक मैनेजर मनीष अग्रवाल अपनी गाड़ी से आया और मनीष को टक्कर मार कर गिरा दिया और फिर गाड़ी से उतर कर चाकू निकाल कर ठेकेदार मनीष पर ताबड़तोड़ हमला शुरू कर दिया.

अचानक हुए चाकुओं के हमले से ठेकेदार मनीष लहूलुहान अवस्था मे लड़खड़ा कर नीचे गिर गया और उसकी मौके पर ही मौत हो गयी. शहर की पॉश कॉलोनी कहे जाने वाली देवासिष  सिटी में दिनदहाड़े हुई हत्या से सनसनी फैल गई. हत्या की वजह साफ नहीं हो रही है, लेकिन प्रारंभिक जांच में मामूली विवाद के बाद बदमाश ने हत्या की वारदात को अंजाम देना बताया जा रहा है. आरोपी घटना के बाद मौके से फरार हो गया.  बताया जा रहा है कि चाकू से हमले के बाद हत्याकांड के आरोपी मनीष अग्रवाल ने टाइल्स के ठेकेदार मनीष शर्मा पर डंडे से भी वार किया था. घटनास्थल पर खून ही खून बिखरा पड़ा था साथ ही खून में सना हुआ डंडा भी पुलिस को बरामद हुआ है.

जांच में जुटी पुलिस

मामले की सूचना मिलने अपर बोरखेड़ा थानाधिकारी महेंद्र मीणा ने मौके पर पहुंच कर मृतक मनीष के शव को एमबीएस अस्पताल की मोर्चरी में रखवाया जहां आज उसके शव का पोस्टमार्टम करवाया जाएगा.  मृतक मनीष के परिजनों की शिकायत के आधार पर आरोपी मार्केटिंग मैनेजर मनीष अग्रवाल के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर आरोपी की तलाश शुरू कर दी गई है. कोटा शहर के एएसपी प्रवीण जैन ने बताया कि हत्या के कारणों का अभी तक कोई खुलासा नही हो सका है. पुलिस ने अलग-अलग टीमें गठित कर आरोपी के संभावित ठिकानों पर दबिश देकर गिरफ्तारी के प्रयास तेज कर दिए.आरोपी मनीष अग्रवाल सेल्स मैनेजर है और मृतक टाइल्स का ठेकेदार था. शुरुआती जांच में मामूली विवाद के बाद ही वारदात को अंजाम देना बताया जा रहा है.