अजमेर। तकनीकी शिक्षा राज्यमंत्री डॉ. सुभाष गर्ग ने कहा है कि जनजातीय क्षेत्र के छात्रों को सुविधा उपलब्ध कराने के उद्देश्य से गत दिनों मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के द्वारा की गई आईटी लाईब्रेरी की घोषणा की अनुपाला में बांसवाड़ा अभियांत्रिकी महाविद्यालय में डिजिटल लाईब्रेरी शुरू की जाएगी। उन्होंने कहा कि इसी प्रकार से झालावाड़ अभियांत्रिकी महाविद्यालय एवं अजमेर महिला अभियांत्रिकी महाविद्यालय में भी डिजिटल लाईब्रेरी शुरू की जाएगी। इसमें तकनीकी शिक्षा के साथ-साथ अकादमिक कॉलेजों के छात्र—छात्राओं को भी सुविधा मिलेगी।
तकनीकी शिक्षा राज्यमंत्री ने सोमवार को जयपुर स्थित तकनीकी शिक्षा भवन से आयोजित वीसी के माध्यम से राज्य के अभियांत्रिकी महाविद्यालयों की बोर्ड ऑफ गवर्नेन्स की बैठक की अध्यक्षता करते हुए चर्चा के दौरान उक्त जानकारी दी। इस बैठक में देश के विभिन्न तकनीकी विश्वविद्यालयों के कुलपति एवं प्रोफेसरों के साथ तकनीकी शिक्षा राज्यमंत्री ने इस संबंध में महत्वपूर्ण सुझावों को समाहित कर शीघ्र ही कार्ययोजना बनाने के विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए।
डॉ. गर्ग ने बोर्ड ऑफ गवर्नेन्स की बैठक को सम्बोधित करते हुए निर्देश दिए कि तकनीकी शिक्षा विभाग के अन्तर्गत राज्य में खोले गए 11 स्ववित्त पोषित अभियांत्रिकी महाविद्यालयों में वर्तमान में छात्रों की संख्या में कमी आने के कारण इनकी वित्तीय स्थिति को दृष्टिगत रखते हुए इन महाविद्यालयों में शैक्षणिक एवं गैरशैक्षणिक स्टाफ का रेशनलाईजेशन किया जाए।
तकनीकी शिक्षा राज्यमंत्री ने तकनीकी विश्वविद्यालयों एवं अभियांत्रिकी महाविद्यालयों के पी.जी.अंतिम वर्ष के छात्रों के लिए कोविड गाईडलाईन की पूर्ण पालना करते हुए ऑफलाईन प्रेक्टिकल कक्षाएं आयोजित कराने हेतु विश्वविद्यालयों द्वारा स्वयं के स्तर पर निर्णय लेने के निर्देश दिए।
बीओजी की बैठक में  उच्च एवं तकनीकी शिक्षा शासन सचिव श्रीमति शुचि शर्मा, संयुक्त शासन सचिव अनिल अग्रवाल, संयुक्त सचिव डॉ. मनीष गुप्ता व अन्य विभागीय अधिकारियों ने भाग लिया।