नई दिल्ली।  कृषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली से लगने वाली विभिन्न राज्यों की सीमाओं पर किसानों का आंदोलन जारी है। सरकार के साथ उनकी कई दौर की वार्ता भी हो चुकी है, लेकिन सभी बेनतीजा रही है। एक तरफ किसान संगंठन के नेता तीनों कानूनों को रद्द करने की अपनी मांग पर अड़े हुए हैं, वहीं सरकार ने भी अपनी मंशा साफ कर दी है। आंदोलन कर रहे किसानों को बढ़ती ठंड की वजह से काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

अखिल भारतीय किसान सभा के महासचिव हन्नान मोल्लाह ने कहा, 'लगभग दो महीनों से हम ठंड के मौसम में परेशान हो रहे हैं। सरकार हमें 'तारीख पे तारीख’ दे रही है। इस मामले को टालने की कोशिश कर रही है ताकि हम थक जाएं और जगह छोड़ दें। यह उनकी साजिश है।'