करनाल. हरियाणा (Haryana) के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर (CM ML Khattar) के कार्यक्रम को लेकर कैमला गांव छावनी में तब्दील कर दिया गया है. किसानों के विरोध (Kisan Andolan) के चलते पुलिस अलर्ट मोड पर है. रविवार को कैमला गांव में मुख्यमंत्री मनोहर लाल किसान पंचायत के माध्यम से किसानों के साथ सीधा संवाद करेंगे. इससे पहले किसान वहां प्रदर्शन की तैयारी कर रहे थे. केमला गांव में घुसने की कोशिश कर रहे किसानों पर पुलिस ने आंसू गैस के गोले और पानी के गोले दागे. ताकि किसानों के प्रदर्शन को प्रभावित किया जा सके. सुरक्षा को देखते हुए पुलिस ने तमाम इंतजाम किए हैं.

बता दें कि बीजेपी शासित हरियाणा ने नवंबर में तब सुर्खियां बटोरी थीं, जब उसने किसानों को दिल्ली के रास्ते से रोकने का फैसला किया था. अब सीएम के कार्यक्रम से ऐन पहले किसानों पर आंसू गैस के गोले दागे गए हैं. गौरतलब है कि किसान कृषि कानून को लेकर किसान संगठन जहां कृषि कानून का विरोध कर रहे हैं. किसानों द्वारा हरियाणा में बीजेपी और जेजपी नेताओं का विरोध भी लगातार जारी है. किसान संगठन सरकार के मंत्री नेताओ का जबरदस्त विरोध करने में लगा हुए हैं.

सीएम बैन का लगाया पोस्टर
बता दें कि किसानों ने मुख्यमंत्री की एंट्री बैन के पोस्टर हरियाणा के कई गांवों में लगा दिए गए हैं और अब करनाल के कैमला गांव में मुख्यमंत्री मनोहर लाल का कार्यक्रम है. बीजेपी की तरफ से किसान महापंचायत आयोजित किया गया है. सीएम का कार्यक्रम रद्द करवाने के लिए जिद्द पकड़ ली है. उनका कहना है मुख्यमंत्री का कार्यक्रम हम हर हाल में नहीं होने देंगे तो वहीं घरोंडा से बीजेपी विधायक हरविंदर कल्याण का कहना है कैमला गांव में किसान पंचायत का कार्यक्रम होगा, जिसमें मुख्यमंत्री पहुंचेगे, और किसान कृषि कानून को लेकर किसानों से स्वाद करेगे, जिसको लेकर अब गाँव कैमला पुलिस छावनी से कम नही नजर आ रही है.