औरंगाबाद। औरंगाबाद में दहेज लोभी दरिंदों ने एक विवाहिता की गला दलाबाकर हत्या कर दी। इसके बाद साक्ष्य मिटाने के लिए महिला का शव भी जला दिया। घटना गोह थाना मुख्यालय के बारी टोला की है। यही नहीं मृतका पिंकी के परिजनों को सूचित भी नहीं किया। मामले का खुलासा तब हुआ जब झारखंड के धनबाद जिले के बारामुण्डी निवासी मृतका के परिजन यहां पहुंचे और पुलिस को मामले की जानकारी दी। लेकिन, ससुरालवालों के रसूख के आगे पुलिस भी कुछ करने से बचती रही।
 मृतका की माँ के द्वारा प्राथमिकी दर्ज़ कराने के लिए दिए गए आवेदन के बावजूद गोह थाना की पुलिस ने जब प्राथमिकी दर्ज नहीं की, तब परिजनों ने एसपी को लिखित सूचना दी। इसके बाद एसपी के निर्देश के बाद प्राथमिकी दर्ज़ हो सकी। पिंकी के मायके वालों ने पति, ससुर, सास समेत कुल 12 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कराया है। पिंकी के परिजनों ने बताया कि 2016 में उसकी शादी बड़ी ही धूमधाम से हुई थी। उन्होंने बताया कि हाल ही में 5 लाख रुपये बतौर दहेज देने के बाद भी ससुराल वाले दहेज की मांग कर रहे थे। इस पर मायके वालों ने असमर्थता जताई थी, जिसके कुछ दिनों के बाद ही पिंकी के ससुराल वालों ने उनकी हत्या कर दी। अब शिकायत के बाद पुलिस मामले की जांच कर रही है।