पटना । बिहार में कोरोना वायरस के मामलों में आई कमी देखते हुए नी‎तिश सरकार ने पहली से पांचवीं क्लास तक स्कूल खोलने का फैसला ‎लिया है। राज्य सरकार ने 1 मार्च से क्लास 1 से 5 तक के स्कूलों को खोलने का आदेश दे दिया है। सरकार ने इस शर्त के साथ स्कूल खोलने की इजाजत दी है कि कोरोना गाइडलाइन का पालन किया जाएगा और 50 फ़ीसदी बच्चे ही क्लास रूम में मौजूद रहेंगे। मुख्य सचिव दीपक कुमार ने निर्देश ‎दिए ‎कि राज्य के सभी स्कूलों में कोरोना गाईडलाइंस का पालन करते हुए 50 प्रतिशत बच्चों की उपस्थिति ही अनिवार्य होगी जबकि शत प्रतिशत शिक्षकों को स्कूल अनिवार्य होगा। सभी स्कूलों को पूरी तरह से सैनिटाइज कराने के बाद ही कक्षा संचालित करने का निर्देश दिया है साथ ही सभी बच्चों को सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए 6-6 फिट की दूरी पर बैठना अनिवार्य होगा। इसके अलावा सभी बच्चों को स्कूल की ओर से ही 2 -2 मास्क उपलब्ध कराया जाएगा। ये आदेश सभी निजी और सरकारी विद्यालयों के लिए लागू हुआ है। बता दें ‎कि राज्य में सबसे पहले क्लास 9 से 12 तक 4 जनवरी से खोले फिर 8 फरवरी से क्लास 6 से 8 तक खोले गए। अब क्लास 1 से 5 तक को भी अनुमति दे दी गई है। हालांकि परिजनों पर डिपेंड करेगा कि वो बच्चे को स्कूल भेजेंगे या नहीं क्योंकि अभिभावकों के सहमति पत्र भरे जाने के बाद ही बच्चों को स्कूल में प्रवेश की अनुमति होगी और अगर अभिभावक नहीं चाहेंगे।