अहमदाबाद | वैश्विक महामारी कोरोना संक्रमण के चलते पिछले 9 महीने से बंद स्कूल-कॉलेजें आज से खुल गईं| स्कूल संचालकों ने स्कूल खुलने से पहले ही प्रत्येक कक्षा को सैनिटाइज और सोशल डिस्टेंसिंग की व्यवस्था पहले ही कर ली थी| कक्षा 10 एवं 12 समेत कॉलेज में विद्यार्थियों को मास्क और सोशल डिस्टेंस के साथ प्रवेश दिया गया| राज्य के कई जिलों में राज्य सरकार के मंत्री और विधायकों ने कोरोनाकाल में स्कूल में खुलने पर विद्यार्थियों को स्वागत कर उन्हें प्रोत्साहित किया| विद्यार्थियों ने सरकार की एसओपी का पालन करते हुए स्कूल-कॉलेज में प्रवेश किया| कक्षा में विद्यार्थियों ने प्रार्थना और राष्ट्रीय गीत गाया और उसके बाद शैक्षिक कार्य शुरू हुआ| गुजरात शिक्षा बोर्ड से जुड़ी ज्यादातर स्कूलें आज से खुल गई हैं| शिक्षा विभाग ने प्रत्येक विद्यार्थियों से अपने अभिभावक का सहमति पत्र लेकर ही स्कूल आने की हिदायत दी थी और इसे लेकर स्कूल संचालकों ने भी कड़ा रुख अपना रखा है| क्योंकि संचालक कोरोना महामारी में किसी विवाद में नहीं आना चाहते| इसलिए उन्होंने पहले ही साफ कर दिया कि विद्यार्थी को तभी स्कूल में प्रवेश मिलेगा जब अपने अभिभावक को सहमति पत्र लेकर आएगा| दूसरी ओर सीबीएएसई की ज्यादातर स्कूलें 18 जनवरी से शुरू होंगी, क्योंकि 12 जनवरी तक स्कूलों में परीक्षा हैं और एक दिन की स्थानीय छुट्टी के पश्चात मकर संक्रांति की छुट्टी रहेगी| इन छुट्टियों के बाद 18 जनवरी से स्कूलों में नियमित शिक्षा कार्य प्रारंभ होगा| संचालकों का कहना है कि सरकार ने स्कूल शुरू करने के लिए पर्याप्त समय नहीं दिया, इसलिए उसकी तैयारियों में कुछ और समय लगेगा|