गाजियाबाद. किसान आंदोलन (Kisan Andolan) को लेकर सियासत लगातार गर्म है. एक तरफ गाजीपुर बॉर्डर पर किसान धरने पर डटे हुए हैं, वहीं दूसरी तरफ दिल्ली पुलिस (Delhi Police) किसानों को दिल्ली में घुसने से रोकने के लिए कीलें बिछाने, दीवार खड़ी करने जैसी जुगत कर रही है. इन सबके बीच मंगलवार को शिवसेना (Shivsena) के प्रवक्ता और राज्यसभा सांसद संजय राउत (Sanjay Raut) गाजीपुर बॉडर पहुंचे. यहां उन्होंने किसान नेता राकेश टिकैत (Rakesh Tikait) से मुलाकात की.

महाराष्ट्र सरकार किसानों के साथ

संजय राउत ने कहा कि हमने पहले दिन से ही कृषि कानूनों का विरोध किया है. महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री और शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने मुझे विशेष तौर पर गाजीपुर बॉर्डर पर चल रहे किसान आंदोलन में भेजा है. महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री ने किसान नेता राकेश टिकैत को मेरे द्वारा संदेश भेजा है कि शिवसेना और महाराष्ट्र सरकार पूरी तरह से किसानों के साथ खड़ी हुई है. संजय राउत ने बताया कि शिवसेना प्रमुख भी किसान नेता राकेश टिकैत से स्वयं बातचीत करेंगे. आंदोलन सड़क का है और सड़क पर रहेगा.


राकेश टिकैत के साथ खड़े हों
उन्होंने कहा कि गाजीपुर बॉर्डर पर आंदोलनकारी किसानों को कुचलने की कोशिश की गई. ऐसे में महाराष्ट्र के लोगों का कर्तव्य बनता है कि राकेश टिकैत के साथ खड़े हों. मुझे लगता है कि देश के हर नागरिक का कर्तव्य है कि आंदोलन में पहुंचकर किसानों को समर्थन दें. महाराष्ट्र से हजारों की संख्या में आए किसान गाजीपुर बार्डर में आंदोलन कर रहे हैं. किसान संगठनों द्वारा तीन घंटे के लिए देशव्यापी चक्का जाम का जो ऐलान किया गया है. उसका भी शिवसेना पूरी तरह से समर्थन करती है.