कोटा। आम जनता में विश्वास, अपराधियों में डर के स्लोगन पर काम करने वाली राजस्थान पुलिस अब अपने ही महकमे के नशे के आदी पुलिसवालों की पहचान करेगी। ऐसे पुलिसवालों की नशामुक्ति के लिए विभाग अभियान चलाएगा। कोटा से इस अभियान का आगाज करने की तैयारी कोटा ग्रामीण पुलिस कर रही है। कोटा ग्रामीण एसपी शरद चौधरी ने बताया कि अगले साल में कोटा ग्रामीण पुलिस में तैनात पुलिसकर्मियों में से ऐसे लोगों की पहचान की जाएगी जो नशे के आदी हैं। ऐसे जवानों का डॉक्टरों की विशेष टीम से इलाज करवाकर उनकी काउंसलिंग करवाई जाएगी, ताकि नशे छुटकारा मिल सके।  एसपी शरद चौधरी ने बताया कि 40 वर्ष से अधिक उम्र के पुलिसकर्मियों की फिटनेस को लेकर भी महकमा मेडिकल सुविधा मुहैया करवाकर उनको बीमारी के अनुरूप उपचार की व्यवस्था करवाएगा। वहीं शराब के आदी पुलिसकर्मियों का इलाज पुलिस लाइन में बनाये जाने वाले सेंटर पर होगा। यहां क्लीनिकल एवं मनोवैज्ञानिक तरीके से सुव्यवस्थित इलाज करवाकर नशे की लत से छुटकारा दिलाने के प्रयास किए जाएंगे।