कोरबा| शासकीय मिनीमाता गर्ल्स कॉलेज में स्वामी विवेकानंद की जयंती युवा दिवस के रूप में मनायी गई। उनके उपदेशों और सिद्धांतों का अनुसरण करने की शपथ राष्ट्रीय सेवा योजना के स्वयंसेवकों ने ली।कार्यक्रम का समन्वय एनएसएस की कार्यक्रम अधिकारी डॉ.डेजी कुजूर ने किया और विषय की भूमिका पर प्रकाश डाला। मुख्य अतिथि डॉ. तारा शर्मा ने राष्ट्र निर्माण में युवाओं की भूमिका विषय पर अपने विचार व्यक्त किये। विशिष्ट अतिथि प्रो.अश्वनी केशरवानी ने स्वामी विवेकानंद को युवाओं के लिए प्रेरक पुरुष बताते हुए कहा कि युवाओं को हर युग में इस व्यक्तित्व से बेहतर प्रेरणा मिलती रहेगी। डॉ.श्रेणी दिवाकर ने युवाओं को दिशा दर्शन देने के लिए स्वामी विवेकानंद द्वारा प्रतिपादित सूत्रों को महत्वपूर्ण बताया। प्रो. प्रकाश कुमार साहू ने राष्ट्रीय युवा दिवस मनाने की अवधारणा को स्पष्ट किया और इसके माध्यम से विद्यार्थियों के व्यक्तित्व में शामिल हो रहे नैतिक गुणों की चर्चा की। महाविद्यालय की रासेयो स्वयंसेवक निशा यादव ने स्वामी विवेकानंद के व्यक्तित्व पर संबोधन देने के साथ कई पक्षों को रेखांकित किया। महाविद्यालय की रासेयो इकाई के द्वारा निबंधए नारा लेखन और भाषण प्रतियोगिता भी रखी गई। उत्कृष्ट प्रतिभागियों को पुरस्कृत किया गया। ब्लू ब्रिगेड टीम को कार्यक्रम के अंत में परिचय पत्र वितरित किये गए। धन्यवाद ज्ञापन के साथ कार्यक्रम का समापन हुआ|