भोपाल : प्रदेश की खेल और युवा कल्याण मंत्री श्रीमती यशोधरा राजे सिंधिया आज बड़ी झील स्थित वाटर स्पोर्ट्स सेंटर पहुँची जहाँ उन्होंने राष्ट्रीय कयाकिंग केनोइंग स्प्रिंट चैम्पियनशिप के पदक विजेता खिलाड़ियों के शानदार प्रदर्शन की सराहना की और उन्हें शाबाशी देकर उनका उत्साहवर्धन किया। उन्होंने यहाँ अधिकारियों और वाटर स्पोर्ट्स सेलिंग, रोइंग और कयाकिंग केनोइंग प्रशिक्षकों की बैठक में वाटर स्पोर्ट्स गतिविधियों की विस्तार से समीक्षा की।

खेलों में कैरियर

खेल मंत्री श्रीमती यशोधरा राजे सिंधिया ने 31वीं राष्ट्रीय कयाकिंग केनोइंग स्प्रिंट (बालक एवं बालिका जूनियर सब जूनियर) चैंपियनशिप के पदक विजेता खिलाड़ियों को बधाई देते हुए कहा कि वाटर स्पोर्ट्स अकादमी के खिलाड़ियों ने बहुत ही शानदार प्रदर्शन कर मध्यप्रदेश को सर्वाधिक स्वर्ण पदक दिलाएं हैं। उन्होंने खिलाड़ियों को खेलों में कैरियर बनाने के लिए प्रोत्साहित किया और अकादमी के स्टार खिलाड़ी हर्षिता तोमर, राम मिलन यादव, रितिका दांगी, उमा चौहान आदि का उदाहरण देते हुए कहा कि राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में मैडल जीतने का यह जूनुन कायम रहना चाहिए। उन्होंने रजत पदक विजेता खिलाड़ियों से कहा कि आगामी प्रतियोगिताओं में और अधिक परिश्रम कर अपनी खेल विधा में निखार लाएं और अपने उत्कृष्ट प्रदर्शन से रजत पदक को स्वर्ण पदक में बदलने का प्रयास करें।  खेल मंत्री ने सेलिंग और रोइंग खिलाड़ियों से भी आगामी प्रतियोगिताओं की तैयारी के संबंध में चर्चा की और उन्हें लक्ष्य निर्धारित कर पदक जीतने के लिए प्रोत्साहित करते हुए शुभकामनाएं दी।

      इस अवसर पर संचालक खेल और युवा कल्याण श्री पवन जैन, संयुक्त संचालक श्री बी.एस. यादव सहित अन्य अधिकारी, वाटर स्पोर्ट्स अकादमी के मुख्य प्रशिक्षक श्री जी.एल. यादव, कैप्टन दलबीर सिंह, कैप्टन पीजूष बरोई, श्री देवन्द्र गुप्ता, श्री अनिल शर्मा मौजूद थे।

खिलाड़ियों के कैरियर के लिए हो हर संभव प्रयास

खेल मंत्री श्रीमती यशोधरा राजे सिंधिया ने वाटर स्पोर्ट्स सेंटर पर आयोजित बैठक में आगामी राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय प्रतियोगिताओं की तैयारी की सिलसिलेवार समीक्षा की। उन्होंने अकादमी में खिलाड़ियों के प्रवेश हेतु किए जाने वाले टैलेन्ट सर्च और समर कैम्प के लिए की जाने वाली कार्यवाही के संबंध में अधिकारियों और खेल प्रशिक्षकों को जरूरी दिशा-निर्देश दिए। बैठक में खेल मंत्री ने सभी प्रशिक्षकों से खिलाड़ियों के परफारमेंस की जानकारी हासिल की। उन्होंने खिलाड़ियों के प्रदर्शन को और अधिक निखारने के संबंध में खेल प्रशिक्षकों को मार्गदर्शन दिया। उन्होंने कहा कि खिलाड़ियों के कैरियर के लिए हर संभव प्रयास किए जाएं। बैठक में खेल संचालक श्री पवन जैन ने विभागीय उपलब्धियों की जानकारी से खेल मंत्री को अवगत कराया।