गोरखपुर । मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने विपक्षी दलों को आड़े हाथों लेते हुए कहा है कि उत्तर प्रदेश में कुछ लोग ऐसे हैं जो अपने लाभ के भगवान राम तक को नहीं छोड़ते हैं। जो कभी भगवान श्रीराम को काल्पनिक बताते थे अब वही कहने लगे हैं कि भगवान राम तो सबके हैं। ऐसा बड़ा बदलाव प्रदेश में चारों तरफ दिखने लगा है।
अपने दो दिवसीय गोरखपुर दौरे के दूसरे दिन रविवार को मुख्यमंत्री योगी ने गोरखपुर को पांच सौ करोड़ से अधिक की विकास परियोजनाओं की सौगात दी। उन्होंने गोरखपुर क्लब से गोरखपुर शहर, गोरखपुर ग्रामीण, पिपराइच, चैरी-चैरा और सहजनवां विधानसभा क्षेत्रों की 580.68 करोड़ लागत की 37 परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास किया। इस मौके पर अपने सम्बोधन में मुख्यमंत्री योगी ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को कोविड-19 की दो वैक्सीन के एक साथ लॉन्च के लिए बधाई दी। उन्होंने कहा कि भारत ऐसा करने वाला पहला देश है। उन्होंने कहा कि यूपी की 24 करोड़ की जनता कोरोना काल मे एक परिवार की तरह दिखाई दी। आज दुनिया के सामने भारत ने साबित कर दिया है कि यहां बड़ी से बड़ी चुनौती का मुकाबला किया जा सकता है। दुनिया में एक वैक्सीन आई है और भारत एक साथ दो वैक्सीन लॉन्च कर रहा है। इस बड़े काम के कारण भारत पूरी दुनिया में चर्चा का विषय बना है। उन्होंने कहा कि वर्तमान में देश में चैतरफा परिवर्तन दिख रहा है। सरकार सिर्फ अपने काम में लगी है लेकिन आलोचना करने वालों को तो हर काम में कमी निकालनी ही है। 
विपक्षी दलों का नाम लिए बगैर मुख्यमंत्री कहा कि उन्होंने कहा कि पांच अगस्त 2020 को अयोध्या में राम जन्मभूमि का शिलान्यास मोदीजी के हाथों होना ये बताता है, इस आंदोलन का विरोध करने वाले लोग नकारात्मक सोच रखते थे। उन्होंने कहा कि प्रदेश में किसी इलाके विशेष का नहीं बल्कि पूरे प्रदेश का समग्र विकास हो रहा है। उन्होंने कहा कि विकास की सभी योजनायें जनता को समर्पित रहती हैं। उत्तर प्रदेश अब निर्णायक भूमिका में रहता है। हमने पूर्वांचल को हर बड़े संकट से मुक्ति दिलाने के साथ ही बाढ़ की समस्या को भी नियंत्रित किया है। सीएम ने कहा कि प्रदेश में विकास की जो प्रक्रिया शुरू हुई है वो हमारी आने वाली पीढ़ी के जीवन में एक नए उमंग, उत्साह के साथ एक नई दिशा देने का काम करेगी। यह हम सबके जीवन में परिवर्तन लाएगा और रोजगार का सृजन करेगा।