कोलकाता । पश्चिम बंगाल के भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष ने कहा कि भगवा पार्टी से मुकाबले के लिए तृणमूल कांग्रेस द्वारा कांग्रेस और वाम मोर्चा से मुख्यमंत्री ममता बनर्जी का साथ देने का आह्वान करना आसन्न हार को देखकर सत्तारूढ़ पार्टी की हताश कोशिशों को दिखाता है। घोष ने कहा कि राज्य में चुनाव की घोषणा से पहले ही तृणमूल कांग्रेस हर मोर्चे पर हार मान चुकी है। वे तृणमूल अकेले लड़ नहीं सकत। इसलिए वे दूसरे दलों से मदद मांग रहे हैं। इससे यह भी पता चलता है कि तृणमूल कांग्रेस का विकल्प केवल भाजपा है। घोष का बयान ऐसे वक्त आया है, जब तृणमूल कांग्रेस ने कांग्रेस और वाम मोर्चा से सांप्रदायिक और विभाजनकारी भाजपा के खिलाफ ममता बनर्जी की लड़ाई में उनका साथ देने को कहा है। हालांकि दोनों दलों ने इस सुझाव को खारिज कर दिया। तृणमूल कांग्रेस के वरिष्ठ सांसद सौगत राय ने कहा था ‎कि अगर वाम मोर्चा और कांग्रेस वास्तव में भाजपा के खिलाफ हैं तो उन्हें भगवा पार्टी की सांप्रदायिक और विभाजनकारी राजनीति के खिलाफ ममता बनर्जी की लड़ाई में साथ देना चाहिए।