मुजफ्फरपुर। बिहार के मुजफ्फरपुर में एक ही इलाके के 4 लोगों की मौत का मामला अब गहराते जा रहा है। इस बात का तो चर्चा-ए-आम है कि इन सभी की जान जहरीली शराब ने ली। लेकिन कहीं से भी इसकी पुष्टि की खबर नहीं है। बुधवार को मुजफ्फरपुर के कटरा इलाके से मौत का तांडव शुरू हुआ। यहां के दरगाह निवासी रामचंद्र मांझी व उसकी पत्नी मंजू देवी की मौत महज चार घंटे के अंतराल पर हो गई थी। गुरुवार को इलाके के कई अन्य लोगों की स्थिति नाजुक होने के बाद ग्रामीणों में चर्चा होने लगी कि जहरीली शराब पीने से ही मौत हुई है। एसएसपी की पूछताछ में किसी ने शराब से मौत की बात नहीं स्वीकार की। शुक्रवार को इलाके के ही विनोद मांझी और सोनल कुमार की मौत की भी चर्चा इलाके में होती रही। हालांकि पुलिस सिर्फ विनोद का शव ही बरामद कर सकी है। बाकी दो के आनन-फानन में दाह संस्कार कर दिये जाने की बात इलाके में चोरी रही। ग्रामीणों की मानें तो जिन पांचों मृतकों के नाम गिनाये जा रहे हैं, वे सभी एक ही जगह अपना धंधा करते थे। विनोद के पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मौत की वजह स्पष्ट नहीं होने से एफआईआर में कई की अड़चनें आ रही हैं। मृतक के परिजन के अनुसार सिर में दर्द, उल्टी, आंख की रोशनी में कमी के लक्षण दिखे थे। माना जाता है कि ज्यादातर ऐसे मामलों में ये लक्षण जहरीली शराब की वजह से ही होते हैं। सूत्रों के मुताबिक शक तो पुलिस को भी है कि मामला जहरीली शराब का ही है लेकिन हाथ में कोई सबूत नहीं हैं।