पानीपत । पानीपत के सदर थाना क्षेत्र के गांव कचरौली में एक युवक ने अपनी पत्नी के उसके प्रेमी के साथ चले जाने से आहत होकर फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। म‎हिला का प्रेमी मृतक के सगे चाचा के लड़का था। परिजनों ने पत्नी और आरोपी के खिलाफ सदर थाने में शिकायत दी है। कचरौली गांव का 35 साल का धर्मेंद्र मजदूरी करता था। जानकारी के मुताबिक, करीब दो साल पहले टीबी की बीमारी के चलते धर्मेंद्र की पत्नी की मौत हो गई। इसके करीब 6 माह बाद धर्मेंद्र ने करनाल के घरौंडा निवासी नीता से दूसरी शादी कर ली। मगर, 12 फरवरी को धर्मेंद्र के काम पर जाने के बाद नीता अपने देवर पवन के साथ चली गई। फोन पर बात हुई तो पता चला दोनों पवन के मामा के घर कैथल में हैं। इसके बाद  धर्मेंद्र अपने अन्य परिजनों के साथ दो ‎दिन पहले पवन के मामा के घर पहुंचे। परिजनों ने बताया कि नीता और मामा ने गांव के लोग इकट्ठे कर लिए और उनको बेइज्जत कर जान से मारने की धमकी दी। इसके बाद वह वापस आ गए। ‎बुधवार रात को धर्मेंद्र ने फिर से पवन को फोन कर उसकी पत्नी को लौटाने की बात कही, लेकिन वह नहीं मानी। जब कोई हल नहीं ‎निकला तो गुरुवार को धर्मेंद्र ने घर पर ही फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। उसकी बेटी प्रीति ने पिता को फंदे पर लटका देख परिजनों को सूचना दी। सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को फंदे से उतारकर पोस्टमार्टम के लिए सिविल अस्पताल पहुंचाया। परिजनों की शिकायत पर मृतक की पत्नी व देवर के खिलाफ मामला दर्ज कर पुलिस ने जांच शुरू की। पु‎लिस का कहना है ‎कि मामले का जल्द खुलासा ‎किया जाएगा।