हर कोई चाहता है कि जीवन में उसे सब कुछ हासिल हो और जो भी उसे मिले वो अच्छे स्तर का हो. कोई भी दुःख न हो और हर चीज एकदम बेहतरीन हो, परिवार में सुख रहे, सम्पति में बढ़ोतरी हो और साथ ही साथ में जिन्दगी को भी धन की प्राप्ति होती रहे. ऐसे में जरूरी है कि घर में जो महिला आती है वो दैवीय शक्तियों को प्रसन्न रखे और उनकी अनुकम्पा को पूरे परिवार के ऊपर बनाए रखे क्योंकि वो ही सही से नही रहेगी तो फिर ऐसा सब हो नही सकता है. चलिए फिर आपको पुराणों में लिखे हुए कुछ एक नियम बताते है जो कि घर की स्त्रियों को हमेशा ध्यान में रखने चाहिए. अगर वो ऐसा नही करती है तो फिर घर में कही न कही बुरा समय आता है और परिवार अधिक फल फूल नही पाता है. घर में रोज सवेरे तुलसी की पूजा करनी शुभदाई होती है. ये रोगों का निराकरण करती है और घर से झगडे बाहर कर देती है, दुख दर्द भी पास नही आता है. महिलाओ को एकादशी और तीज आदि के व्रत रखने चाहिए. ऐसा रखने से हमेशा ही धन की वृद्धि होती है और घर में सुख शान्ति बनी रहती है. घर में जो भी रूपया पैसा आदि आता है वो शुद्ध स्थान पर अलमारी में रखा जाना चाहिए और हो सके तो लाल रंग के कपडे में लपेट कर रखा जाना शुभ होता है, इससे वो पैसा घर में टिकता है. घर की औरत को हमेशा बाहर दान करते रहना चाहिए. पशु को भोजन, अनाथ को वस्त्र और गरीब को धन का दान किया जाना शुभ माना जाता है और इस कारण से आपके घर में सुख शान्ति और समृद्धि का आगमन होता है इस कारण से इन बातो का सदा ध्यान रखे और दान दक्षिणा के कार्यो से पीछे न हटा करे.