लखनऊ. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) के नाम एक और रिकॉर्ड जुड़ने जा रहा है. सोमवार को जैसे ही प्रदेश का बजट (UP Budget 2021) पेश होगा, योगी आदित्यनाथ बीजेपी सरकार के पहले ऐसे मुख्यमंत्री बन जाएंगे, जिनकी देखरेख में लगातार पांचवीं बार बजट पेश किया गया. इससे पहले जो भी बीजेपी के मुख्यमंत्री हुए, उन्होंने अपना कार्यकाल पूरा नहीं किया. उन्होंने अपना पहला बजट वित्तीय वर्ष 2017-18 में 3.84 लाख करोड़ का पेश किया था. वित्तीय वर्ष 2017-18 में 3.84 लाख करोड़, 2018-19 में 4.28 लाख करोड़, 2019-20 में 4.79 लाख करोड़ और 2020-21 में 5.12 लाख करोड़ रुपये का बजट पेश किया था.

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अगुवाई वाली बीजेपी सरकार सोमवार को अपने इस कार्यकाल का अंतिम पूर्ण बजट पेश करेगी. इसके बाद सरकार चुनाव मोड में आ जाएगी, लिहाजा बजट में चुनावी तैयारियों की झलक देखने को मिल सकती है. 10 महीने बाद विधानसभा चुनाव होने हैं, ऐसे में सरकार हर वर्ग को साधने की कोशिश बजट के माध्यम से कर सकती है. सरकार के पिटारे में फ्री कोरोना वैक्सीन, प्रवासी श्रमिकों, किसानों, महिलाओं और युवाओं को खास तोहफा मिलने की उम्मीद है. हालांकि, कोरोना माहमारी की वजह से आर्थिक नुकसान की भरपाई भी सरकार के लिए एक बड़ी चुनौती है.

आज बजट में ये हो सकता है ऐलान 

जानकारों के मुताबिक, पहले पेपरलेस बजट में योगी सरकार प्रदेश वासियों के लिए फ्री कोरोना वैक्सीन का ऐलान कर सकती है. सरकार इसके लिए बजट में प्रावधान कर सकती है. इसके अलावा छात्रों को फ्री टैबलेट या लैपटॉप देने की भी घोषणा हो सकती है. महिला सशक्तीकरण के साथ ही गंगा किनारे के गांवों में शाम की आरती के लिए गंगा चबूतरा के लिए भी बजट में प्रावधान हो सकता है.